जिस्म‬ पर ‪‎जो निशान‬ हैं ना ‪‎जनाब‬,
वो ‪बचपन के‬ हैं बाद के‬ तो ‪सारे दिल‬ ❤ ‪‎पर है‬ ।।

कुछ मोहब्बत का नसा था पहले हमको फराज़ ,
दिल जो टुटा तो नसे से मोहब्बत हो गयी 😢 😭

आदत बना ली मैंने खुद को तकलीफ देने की , ताकि जब कोई अपना तकलीफ दे तो ज्यादा तकलीफ ना हो !!

ज़नाज़ा इसलिए भारी था उस गरीब का ,.,
वो अपने सारे अरमान साथ लेकर गया था ,.,!

हम तो उसकी 👸 हर ख़्वाहिश ✍ पूरी करने का वादा 🙌 कर बैठे थे, हमें क्या पता हमको छोड़ना ❌ भी उसकी एक 👈 ख़्वाहिश 😔 थी। 💔

सुकून ऐ दिल के लिए कभी हाल तो पूँछ ही लिया करो, मालूम तो हमें भी है कि हम आपके कुछ नहीं लगते…!

लिखना तो था के हम खुश है उसके बिना
मगर आसू निकल पड़े कलम उठाने से पहले😢 💔 😒

मैं क्या जानूँ दर्द की कीमत ? मेरे अपने मुझे मुफ्त में देते हैं !

मुहब्बत न सही मुकद्दमा ही कर दो मुझ पर……
तारीख़ दर तारीख़ तेरा दीदार तो होगा….😢 😭

ये ज़रूरी तो नही ना कि..
जिनके दिल में प्यार हो….
उनकी किस्मत में भी प्यार हो.😢 😭

जाऊँ तो कहा जाऊँ इस तंग दिल दुनिया में,
हर शख्स मजहब पूछ के आस्तीन चढ़ा लेता है…!😢 😭

भूख रिश्तों को भी लगती है
प्यार कभी परोस कर तो देखिये…!!😢 😭

जब जब काग़ज़ पर लिखा, मैंने माँ का नाम…
क़लम अदब से बोल उठी, हो गये चारों धाम…😢 💔 😒

🔥🔥जला डालो जिसको जलाना है लो हमने तो सरेआम दिल रख दिया है।😔🔥🔥

काश तुम भी हो जाओ तुम्हारी यादों की तरह,,…
ना वक़्त देखो, ना बहाना,, बस चले आओ…😢 😭

बहुत थे मेरे भी इस दुनिया मेँ अपने;
फिर हुआ इश्क और हम लावारिस हो गए।😢 😭

भुला देंगे हम अपना गम सारा!
मिला दे रब जो हमको तुमसे दोबारा।😢 💔 😒

अगर लिखना चाहे कुछ उन पर!
आखो पर ही दुनिया के कलम खत्म हो जाये !!

मैं ख़ामोशी तेरे मन की, तू अनकहा अलफ़ाज़ मेरा…
मैं एक उलझा लम्हा, तू रूठा हालात मेरा …

इश्क़ सभी को जीना सिखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क़ नहीं किया तो करके देखो,
ज़ालिम हर दर्द सहना सीखा देता है!😢 😭

उसने बड़ी बेरुखी से कहा बस , अब जुदा होना है और आज दिल- ए- बरबाद में सिर्फ शोला और चिन्गारी है.

वो धागा ही था जिसने छिपकर पूरा जीवन मोतियों को दे दिया…
और ये मोती अपनी तारीफ पर इतराते रहे उम्र भर…

ख्वाहिश तो ना थी किसी से दिल लगाने की,
मगर जब किस्मत में ही दर्द 💔लिखा था
तो मोहब्बत कैसे ना होती।😢 💔 😒

जो जले थे हमारे लिऐ,
बुझ रहे है वो सारे दिये,
कुछ अंधेरों की थी साजिशें,
कुछ उजालों ने धोखे दिये..😢 😭

तुझे भूलकर भी न भूल पायेगें हम,
बस यही एक वादा निभा पायेगें हम,
मिटा देंगे खुद को भी जहाँ से लेकिन,
तेरा नाम दिल से न मिटा पायेगें हम।

उंगलिया आज भी इस सोच में गुम है
उसने कैसे नए हाथ को थामा होगा…

मिटातीं है किसी को .. बनातीं है किसी को ..
मोहोब्बतें भी आजकल की.. सियासी हो गयीं हैं

वक़्त मिले तो प्यार की किताब पढ़ लेना,
हर प्यार करने वाले की कहानी अधूरी होती है.😢 💔 😒

इरादा कतल का था तो मेरा सिर कलम कर देते ,
क्यों इश्क़ में डाल कर तूने मेरी हर साँस पर मौत लिखदी।😢 💔 😒

बिखरे अरमान, भीगी पलकें और ये तन्हाई,
कहूँ कैसे कि मिला मोहब्बत में कुछ भी नहीं।😢 😭

मिटातीं है किसी को .. बनातीं है किसी को ..
मोहोब्बतें भी आजकल की.. सियासी हो गयीं हैं

बस कर……..
अब और इम्तिहान मत ले मेरे सब्र का ऐ ज़िन्दगी…
वर्ना मुझे बस कुछ ही वक़्त लगेगा तेरा ये खेल ख़त्म करने में…😢 💔 😒

चल अब मेरी साँस की जमानत रखा ले तू
शायद इस तहर में बन जाऊ तेरे एतबार के काबिल

कहने को कुछ नहीं …आह भी चुप सी घुट रही है सीने में !!

ज़िस्म से मेरे तड़पता दिल कोई तो खींच लो​,
मैं बगैर इसके भी जी लूँगा मुझे अब ​ये यकीन ​है।😢 😭

इश्क करते है तुमसे इसलिए खामोश है अबतक,,,
खुदा न करे मेरे लब खुले और तुम बर्बाद हो जाओ…..😢 😭

कहीं किसी रोज़ यूँ भी होता,
हमारी हालत तुम्हारी होती,
जो रात हमने गुज़ारी तड़प कर,
वो रात तुमने गुज़ारी होती।😢 😭

हमको खबर भी होने नही दी
किस मोड़ पर लाकर दिल तुने तोड़ा
अपना बनाना रहा दूर तुने
औरो के हो जाए ,ऐसा ना छोड़ा

अपनी आयु से अधिक अपनी छवि का ध्यान रखें,
क्योंकि
छवि की आयु आपकी आयु से अधिक है ।😢 😭

कोई और गुनाह करवा दे मुझ से मेरे खुदा,
मोहब्बत करना अब मेरे बस की बात नहीं ।

डूबी हे मेरी उंगलिया खुद अपने लहू में ,
ये कांच के टुकडो को उठाने की सजा हे !

मुझे भी सिखा दो भूल जाने का हुनर..
मैं थक गया हूँ हर लम्हा हर सांस तुम्हें याद करते करते..!!

खुदगर्ज ही सही,कुछ भी कहो
पर सुनो,तेरी जरूरत है मुझे….!!😢 💔 😒

किसी को क्या बताये की कितने मजबूर है हम
चाहा था सिर्फ एक तुमको और अब तुम से ही दूर है हम

तू तब तक रूला सकती है हमें,
जब तक हम दिल मे बसाये हैं तुझे.😢 😭

ना करते तूम से कोई वादा तो आज इंतजार नही करना पड़ता ,
वादा जो निभाना है तो इंतजार ही करना पड़ेगा ,,

दिल में अब यूँ तेरे भूले हुये ग़म आते हैं;
जैसे बिछड़े हुये काबे में सनम आते हैं।😢 😭

मुजे ऊंचाइयों पर देखकर हैरान है बहुत लोग,
पर किसी ने मेरे पैरो के छाले नहीं देखे…..!!

रोज़ ख्वाबों में जीता हूँ वो ज़िन्दगी …
जो तेरे साथ मैंने हक़ीक़त में सोची थी ..

टूट कर चाहा था तुम्हे और तोड़ कर रख दिया तुमने मुझे😢 😭

तुझको भी जब अपनी कसमें अपने वादे याद नहीं;
हम भी अपने ख्वाब तेरी आँखों में रख कर भूल गए।😢 😭

दिल में अब यूँ तेरे भूले हुये ग़म आते हैं;
जैसे बिछड़े हुये काबे में सनम आते हैं।😢 😭

उठाकर🌹फूल की🍁पत्ती उसने बङी नजाकत से मसल दी, . . इशारो इशारो मेँ कह दिया की हम💔दिल का👈 ये हाल करते है.
🌹🌹

रिश्ते खराब होने की एक वजह ये भी है,
कि लोग झुकना पसंद नहीं करते…!!

महसूस खुद को तेरे बिना मैंने कभी किया नहीं।
तू क्या जाने लम्हा कोई मेने कभी जिया नहीं..😢 💔 😒

इतनी हिम्मत तो नहीं किसी को हाल –ये –दिल सुना सके ,
बस जिसके लिये उदास है बो महसूस करे तो काफी है …!!!😢 💔 😒

अकेले रहने में और अकेले होने में फर्क होता है

भूल जाऊं तो जी नहीं सकता…
याद करूँ तो दम निकलता है…

एक पुराना मोसम लोटा,,याद भरी पुरवायी भी,
ऐसा तो कम ही होता है,,वो भी हो तन्हाई भी😢 💔 😒

वो खुद पर गरूर करते है, तो इसमें हैरत की कोई बात नहीं,
जिन्हें हम चाहते है, वो आम हो ही नहीं सकते !!😢 💔 😒