जब जब काग़ज़ पर लिखा, मैंने माँ का नाम…
क़लम अदब से बोल उठी, हो गये चारों धाम…😢 💔 😒

जो रहते हैं दिल में वो जुदा नहीं होते,
कुछ एहसास लफ़्ज़ों से बयां नहीं होते,
एक हसरत है कि उनको मनाये कभी,
एक वो हैं कि कभी खफा नहीं होते।😢 😭

जिस्म‬ पर ‪‎जो निशान‬ हैं ना ‪‎जनाब‬,
वो ‪बचपन के‬ हैं बाद के‬ तो ‪सारे दिल‬ ❤ ‪‎पर है‬ ।।

ये पतंग भी बिल्कुल तुम्हारी तरह निकली जरा सी हवा क्या लग गई हवा में उडने लगी.

मजबूरियॉ ओढ के निकलता हूं घर से आज कल..
वरना शौक तो आज भी है बारिशों में भीगनें का.!!😢 💔 😒

वक़्त मिला उसे तो हमें भी याद कर ही लेगा वो,
फ़ुरसत के लम्हों में हम भी बड़े ख़ास हैं उसके लिए.😢 💔 😒

तेरी मज़बूरी का अंदाजा है मुझे !
पर मेरी बेबसी पर मेरा जोर नही !!

लोग बेवजह ढूँढते हैँ खुदखुशी के तरीके हजार;
इश्क करके क्यों नहीँ देख लेते वो एक बार।😢 😭

जब प्यार किसी से होता है,
हर दर्द 💔दवा बन जाता है।
क्या चीज मुहब्बत होती है,
एक शख्स खुदा बन जाता है। 😢 😭

समन्दर की स्याही बनाकर शुरू किया था लिखना
खत्म हो गई स्याही मगर माँ की तारीफ बाकी है ।।

जो दिल में आये वो करो….
बस किसी से अधूरा प्यार मत करो😢 😭

बड़ी बेरहम है यारा तेरी यादें जितना दूर जाना चाहूँ
और करीब आ जाती हैं मुझे तेरे और करीब ले जाती हैं😢 💔 😒

जिस कदर तुमने भुला रखा है कभी सोचना,
हम सब छोड़कर निकले थे एक तेरी मोहब्बत के लिये..😢 😭

मौहब्बत की मिसाल में,बस इतना ही कहूँगा ।
बेमिसाल सज़ा है,किसी बेगुनाह के लिए

बडी मुश्किलों से सीखा हे जीना,
दूर तुझसे होकर तेरे बिना….
लोटकर फिर न आना, वरना जीकर भी मर जाऊँगा तेरे बिना😢 💔 😒

तेरे गुरूर 😒 को देखकर तेरी तमन्ना ही छोड़ 💔 दी हमने, जरा हम भी तो देखे 👀 कौन चाहता है तुम्हे हमारी 👫 तरह…!! 😏

मोहब्बत रोग है दिल का इसे दिल पे ही छोड़ दो,
दिमाग को अगर बचा लो तो भी गनीमत हो..!!😢 💔 😒

जब कभी तेरा नाम लेते हैं,
दिल से हम इन्तेकाम लेते हैं,
मेरी बरबादियों के अफसाने
मेरे यारों का नाम लेते हैं।😢 💔 😒

वो रो रो कर कहती रही, मुझे नफरत है तुमसे, मगर एक सवाल आज भी परेशान किये हुए है की अगर इतनी नफरत ही थी तो, वो रोई क्यों….?

दर्द कितना खुशनसीब है जिसे पा कर लोग अपनों को याद करते हैं, दौलत कितनी बदनसीब है जिसे पा कर लोग अक्सर अपनों को भूल जाते है !!

ताला लगा दिया दिल को…..
अब तेरे बिन किसी का अरमान नहीं …..
बंद होकर फिर खुल जाए…..
ये कोई दुकान नही

बस कर……..
अब और इम्तिहान मत ले मेरे सब्र का ऐ ज़िन्दगी…
वर्ना मुझे बस कुछ ही वक़्त लगेगा तेरा ये खेल ख़त्म करने में…😢 💔 😒

सुनो मुझे एक ऐसा शख्स चाहिए,जो डरता हो मुझे खोने से 😣!!

याद उन्ही की आती है,
जिनसे दिल के तालुक हो ,
हर किसी से मोहब्बत हो ऐसा तो मुमकिन नहीं😢 💔 😒

समन्दर की स्याही बनाकर शुरू किया था लिखना
खत्म हो गई स्याही मगर माँ की तारीफ बाकी है ।।

कौन कहता है अलग अलग रहते है हमतुम,,
हमारी यादों के सफ़र में हमसफ़र हो तुम…

तुझे चिठ्ठीयां नहीं करवटो की नकल भेजेंगे,
अब चादर के नीचे कार्बन लगाने लगे हैँ हम,
एक ख्वाहिश है मेरी, पूरी हो इबादत के बगैर,
वो आकर लिपटे मुझसे, मेरी इजाजत के बगैर.😢 😭

#भूल चुका है #वो 👫#शक्स, #जो हर रोज ना, ,👫#भूलने की, #कसम👼🏻 खाया 👫#करता था

मुझ को अब तुझ से भी मोहब्बत नहीं रही,
ऐ ज़िंदगी तेरी भी मुझे ज़रूरत नहीं रही,
बुझ गये अब उस के इंतेज़ार के वो जलते दिए,
कहीं भी आस-पास उस की आहट नहीं रही|😢 😭

ऐ इश्क़…तेरा वकील बन के बुरा किया मैनें,
यहाँ हर शायर तेरे खिलाफ सबूत लिए बैठा हैं…

प्यार के दो मीठे बोल से खरीद लो मुझे
दौलत की सोचोगे तो पूरी दुनिया बेचनी पड़ेगी…😢 💔 😒

तुम्हारे शहर का मौसम बड़ा सुहाना लगे..
मैं एक शाम चुरा लूँ अगर बुरा न लगे..!!!

लोग कहते हैं जब कोई अपना दूर चला जाता है तो बड़ी तकलीफ होती है, पर ज्यादा तकलीफ तो तब होती है जब कोई अपना पास होकर भी दूरियाँ बना ले !

ये अजीब खेल चल रहा है मेरी ज़िन्दगी में जहाँ याद का लफ्ज़ आ जाए ,
वहां तुम याद आ जाते हो।

चाहत देस से आनेवाले ये तो बता के सनम कैसे हैं ..?
दिलवालों की क्या हालत हैं, यार के मौसम कैसे हैं …😢 💔 😒

अपनी आयु से अधिक अपनी छवि का ध्यान रखें,
क्योंकि
छवि की आयु आपकी आयु से अधिक है ।😢 😭

मेरे चुप रहने से नाराज़ ना हुआ करो…
कहते है टूटे हुए लोग हंमेशा ख़ामोश हुआ करते है ..😢 💔 😒

उसकी हसरत है मुझे बर्बाद होते देखे,
और मेरी तमन्ना है की में आबाद हो जाऊ..😢 😭

बहुत थे मेरे भी इस
दुनिया मेँ अपने
फिर हुआ इश्क
और हम लावारिस हो गए.!!😢 😭

थोडे अोले इस दिल में भी बरसा दे ए मालिक..
उसकी यादों की फसल अब भी खड़ी है यहाँ..!!😢 💔 😒

कहते है,
प्यार की शुरुआत आँखो से होती है,
यकीन मानो दोस्तो ,
प्यार की कीमत भी आँखो से ही चुकानी पड़ती है 😢 😭

जब कभी तेरा नाम लेते हैं,
दिल से हम इन्तेकाम लेते हैं,
मेरी बरबादियों के अफसाने
मेरे यारों का नाम लेते हैं।😢 💔 😒

मोहब्बत होने में कुछ लम्हे लगते है ..
पूरी उम्र लग जाती है उसे भुलाने में …

बारिश‬ के ‪बाद‬ तार पर ‪टंगी‬ ‪आख़री‬ ‪‎बूंद‬ से पूछना,
क्या‬ होता है ‪‎अकेलापन‬

इश्क़ में कोई खोज नहीं होती,
यह हर किसी से हर रोज नहीं होती,
अपनी जिंदगी में हमारी मौजूदगी को बेवजह मत समझना,
क्योंकि पलके कभी आँखों पर बोझ नहीं होती..!!😢 💔 😒

हमने तो एक ही शख्स पर चाहत ख़त्म कर दी ..
अब मोहब्बत किसे कहते है मालूम नहीं..😢 😭

मुहब्बत न सही मुकद्दमा ही कर दो मुझ पर……
तारीख़ दर तारीख़ तेरा दीदार तो होगा….😢 😭

वो जो तुमसे रुबरु करवाता है,
आजकल वो आइना भी हमसे रूठा है।😢 💔 😒

मै फिर याद आऊंगा उस दिन
जब तेरे ही बच्चे कहेंगे मम्मी आपने कभी किसी से प्यार किया ???

महकाने लाख बंद करे जमाने वाले
शहर में कम नहीं आखों से पिलाने वाले😢 😭

बना दो वज़ीर मुझे भी इश्क़ की दुनिया का दोसतों, वादा है मेरा हर बेवफा को सजा ऐ मौत दूंगा…!!!

ऐसा करते हैं तुम पर मरते हैं,
वैसे भी हमें मर ही जाना हैं!!!!!!!!

कमी तेरे नसीबों में रही होगी,
कि तू मेरी ना हुई,
मैने तो कोशिश बहुत की,
तुझे अपना बनाने की…

चाहत देस से आनेवाले ये तो बता के सनम कैसे हैं ..?
दिलवालों की क्या हालत हैं, यार के मौसम कैसे हैं …

उसी से पूछ लो उसके इश्क की कीमत
हम तो बस भरोसे पे बिक गए😢 😭

बस यही सोच कर हर तपिश में जलता आया हूँ;
धूप कितनी भी तेज़ हो समन्दर नहीं सूखा करते।😢 😭

ये लकीरें, ये नसीब, ये किस्मत सब फ़रेब के आईनें हैं,
हाथों में तेरा हाथ होने से ही मुकम्मल ज़िंदगी के मायने हैं.😢 💔 😒

ऐ ज़िँदगी, अब तू ही रुठ जा मुझसे..
ये रुठे हुए लोग, मुझसे मनाए नहीँ जाते…😢 😭

हुस्न वाले जब तोड़ते हैं दिल किसी का,
बड़ी सादगी से कहते है मजबूर थे हम….😢 💔 😒

जाने उस शख्स को कैसे ये हुनर आता है .
रात होती है तो आँखों में उतर आता है …!
मैं उस के खयालो से बच के कहाँ जाऊं .
वो मेरी सोच के हर रस्ते पे नजर आता है..!!!