कैसे करे इंतजार तेरे लौट आने का,
अभी दिल को यकीन नहीं हुआ है तेरे चले जाने का 😢 😭

आह को चाहिए इक उम्र असर होते तक,
कौन जीता है तिरी ज़ुल्फ़ के सर होते तक..!!

परछाइयों के शहर की तन्हाईयाँ ना पूछ;
अपना शरीक-ए-ग़म कोई अपने सिवा ना था।

चुपके से धड़कन में उतर जायेंगे,
राहें उल्फत में हद से गुजर जायेंगे,
आप जो हमें इतना चाहेंगे…
हम तो आपकी साँसों में पिघल जायेंगे.

जो दिल में आये वो करो….
बस किसी से अधूरा प्यार मत करो😢 😭

तेरे गुरूर 😒 को देखकर तेरी तमन्ना ही छोड़ 💔 दी हमने, जरा हम भी तो देखे 👀 कौन चाहता है तुम्हे हमारी 👫 तरह…!! 😏

रोज कहाँ से लाऊँ एक नया दिल,
तोड़ने वालों ने तो मजाक बना रखा है!😢 😭

उसने पूछा कोई आखिरी ख्वाहिश….
जुबान पर आ गया सिर्फ तुम…!!!

कमाल का जिगर रखते है कुछ लोग
दर्द 💔पढ़ते है और आह तक नहीं करते….

न दो इल्जाम हमें की क्यों इतना घुरते है हम तुमे!
जाकर उससे पूछो क्यों इनता हशीन बनाया तुमे !!

नज़रअंदाज़ करने की__सजा देनी थी तुमको__!
तुम्हारे दिल में उतर जाना__ज़रूरी हो गया था_

कहा था सबने, डूबेगी यह कश्ती
मगर हम जानकर बैठे उसी मेंll😢 😭

उसने पूछा कोई आखिरी ख्वाहिश….
जुबान पर आ गया सिर्फ तुम…!!!

उनके हाथ पकड़ने की मजबूती जब ढीली हुई
तो एहसास हुआ शायद ये वही जगह है जहां रास्ते बदलने है ….😢 😭

अब की बार मिलोगे तो खूब रुलायेंगे तुम्हे.
सुना है तुम्हे रोने के बाद सीने से लिपट जाने की आदत है…!!

बिजलियाँ टूट पड़ी… जब वो मुकाबिल से उठा,
मिल के पलटी थीं निगाहें कि धुआँ दिल से उठा।

भुला देंगे तुमको ज़रा सब्र तो कीजिये ,
आपकी तरह मतलबी बनने में थोड़ा वक़्त तो लगेगा हमें।

बात तो सिर्फ जज़्बातों की है
वरना
मोहब्बत तो सात फेरों के बाद भी नहीं होती..!!😢 😭

वादो से बंधी जंजीर थी जो तोड दी मैँने,
अब से जल्दी सोया करेंगे ,
मोहब्बत छोड दी मैँने….😢 💔 😒

बेवजह बिछड़ तो गए हो तुम बस इतना बता दो कि सकून मिला या नहीं।

तु खामोश क्यू है ये तो मालुम नही मगर,
.
.
दिल डूब सा जाता है जब तु खामोश होता है….😢 😭

बीते पल वापस ला नहीं सकते,
सूखे फूल वापस खिला नहीं सकते,
कभी कभी लगता है आप हमें भूल गए,
पर दिल कहता है कि आप हमें भुला नही सकते.

याद है मुझे मेरी हर एक गलती,
एक तो मोहब्बत कर ली,
दुसरी तुमसे कर ली,
तिसरी बेपनाह कर ली😢 😭

मुस्कुराने से भी होता है ग़में-दिल बयां, मुझे रोने की आदत हो ये ज़रूरी तो नहीं !!!

इश्क मुहब्बत तो सब करते हैं!
गम-ऐ-जुदाई से सब डरते हैं
हम तो न इश्क करते हैं न मुहब्बत!
हम तो बस आपकी एक मुस्कुराहट पाने के लिए तरसते हैं!

कुछ खास नही बस इतनी सी है मोहब्बत मेरी .. .!!
हर रात का आखरी खयाल और हर सुबह की पहली सोच हो तुम.😢 💔 😒

इश्क मुहब्बत क्या है..?
मुझे नही मालूम…?
.
बस …..
.
तुम्हारी याद आती है..?
सीधी सी बात है😢 😭

बीते पल वापस ला नहीं सकते,
सूखे फूल वापस खिला नहीं सकते,
कभी कभी लगता है आप हमें भूल गए,
पर दिल कहता है कि आप हमें भुला नही सकते.

मरने को मर भी जाऊँ कोई मसला नहीं,
लेकिन ये तय तो हो कि अभी जी रही हूँ मैं !!

अजब सी खामोशी हैं मेरे अंदर तेरे जाने के बाद….
मै चीखती हु, चिल्लाती हु मगर शोर नहीं होता!!

रोज कहाँ से लाऊँ एक नया दिल,
तोड़ने वालों ने तो मजाक बना रखा है!😢 😭

कोई तो बरसात ऐसी हो जो तेरे संग बरसे ,
तन्हा तो मेरी आँखें हर रोज़ बरसती है .

मरने को मर भी जाऊँ कोई मसला नहीं,
लेकिन ये तय तो हो कि अभी जी रही हूँ मैं !!

हमें आदत नही इंतज़ार की ,
पर क्या करें सुना है तेरे दर पर लम्बी कतारें है

हमें तो कब से पता था के तूबेवफा है
ऐ बेखबर
तुझे चाहा ही इस लिए की शायद तेरी फितरत बदल जाये…!!😢 💔 😒

इक बात कहूँ इश्क, बुरा तो नहीँ मानोगे…. बङी मौज के थे दिन, तेरी पहचान से पहले.

बरबाद कर देती है मोहब्बत हर मोहब्बत करने वाले को क्यूकि इश्क़ हार नही मानता और दिल बात नही मानता..!!

😓#शायरी शौक नहीं, और नाही 😓#कारोबार मेरा…..!! बस ❤😓#दर्द जब सह नहीं पाता, तो ✍✍#लिख लेता हूँ😘😘👉

इतनी लम्बी उम्र की
दुआ मत माँग मेरे लिये
ऐसा ना हो कि तू भी छोड दे
और मौत भी ना आए..!😢 😭

😓#शायरी शौक नहीं, और नाही 😓#कारोबार मेरा…..!! बस ❤😓#दर्द जब सह नहीं पाता, तो ✍✍#लिख लेता हूँ😘😘👉

तुम जिन्दगी में आ तो गये हो मगर ख्याल रखना,
हम जान दे देते हैं मगर जाने नहीं देते !!

बस यही आदत उसकी मुझे अच्छी लगाती है जब .युही
नज़रें झुका कर वो कहती है तुम्हे कोई हक नही .😢 😭

स्याहीथोड़ी‬ #कम पड़ गई वर्ना #किस्मत तो अपनी भी #खूबसूरत #लिखी गई थी….😢 😭

दर्द💔 को छुपाए बैठा रहा,
आंखों की नमी को छुपाए बैठा रहा,
उम्मीद टूटी नहीं है अभी भी,
तेरे लौट आने की खुशी में बैठा रहा।😢 😭

ख्वाहिश तो थी मिलने की
पर कभी कोशिश नहीं की
सोचा के जब खुदा माना है उसको
तो बिन देखे ही पूजेंगे ।😢 😭

रोज कहाँ से लाऊँ एक नया दिल,
तोड़ने वालों ने तो मजाक बना रखा है!😢 😭

हँसकर दर्द छुपाने की कारीगरी मशहूर थी मेरी, पर कोई हुनर काम नहीं आता जब तेरा नाम आता है |

मुद्दत बाद जब उसने मेरी खामोश आँखें देखी तो ये कहकर फिर रुला गया कि लगता है अब सम्भल गए हो💔

पास आओगे तो सब अपने पसन्द का पाओगे,
तेरे ख्यालो में रहकर तुझमें में ही ढ़ल गया मै।😢 💔 😒

ज़ख़्म दे कर ना पूछा करो दर्द 💔की तुम शिद्दत,
दर्द 💔तो दर्द 💔होता हैं, थोड़ा क्या और ज्यादा क्या।😢 😭

दो आईने को देखकर देखा किया तुझे
तेरी आंखों में डूबकर देखा किया तुझे
सुन ले जरा क्या कह रही तुमसे मेरी निगाह
खामोशियों से बोलकर देखा किया तुझे
लहरें तो आके रूक गईं साहिल को चूमकर
आंसू पलक में रोककर देखा किया तुझे
तेरी उदासियों में तस्वीर है मेरी
ये सोचके बस एकटक देखा किया तुझे

उँगलियाँ मेरी वफ़ा पर तो ना उठाओ,
जिसे हो शक़ वो मुझसे निभाकर देखे…😢 😭

रिश्तों की डोरी तब कमजोर होती है जब इंसान ग़लतफहमी में पैदा होने वाले सवालों का जवाब खुद ही बना लेता है !

आँखें थक गई है आसमान को देखते देखते
पर वो तारा नहीं टूटता ,
जिसे देखकर तुम्हें मांग लूँ….

जो उड गये परिंदे उनका क्या अफसोस करें….
यहां तो पाले हुए भी गैरों की छतों पर उतरते हैं…!!!😢 💔 😒

#भूल चुका है #वो 👫#शक्स, #जो हर रोज ना, ,👫#भूलने की, #कसम👼🏻 खाया 👫#करता था

तेरे रोज के वादों पे मर जायेंगे हम,
यूँ ही गुजरी तो गुजर जायेंगे हम।😢 💔 😒

ऐ इश्क़…तेरा वकील बन के बुरा किया मैनें,
यहाँ हर शायर तेरे खिलाफ सबूत लिए बैठा हैं…

पहली बारिश का नशा ही कुछ अलग होता हैं,
पलको को छूते ही सीधा दिल पे असर होता हैं।😢 😭

मेरी तकमील में शामिल है तेरा हिसा भी ,
में अगर तुझ से ना मिलता तो अधूर ही रहता !!!!!!!!😢 💔 😒