वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही,
इश्क़ में प्रेमी कभी झुकता नही,
खामोश हैं हम किसी के खुशी के लिए,
ना सोचो के हमारा दिल दुःखता नहीं!

बरसों सजाते रहे हम किरदार को अपने…
कुछ लोग बाजी मार ले गये यहाँ सूरत सवार कर…😢 😭

हाथ थामे जिनका चले थे कभी…
अब तनहा इस दिल में लिए घुमते है उन्हें…😢 😭

जो रहते हैं दिल में वो जुदा नहीं होते,
कुछ एहसास लफ़्ज़ों से बयां नहीं होते,
एक हसरत है कि उनको मनाये कभी,
एक वो हैं कि कभी खफा नहीं होते।😢 😭

रास्ते वही होंगे और नज़ारे वही होंगे,
पर हमसफ़र अब हम तुम्हारे नहीं होंगे।😢 😭

इश्क़ सभी को जीना सिखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क़ नहीं किया तो करके देखो,
ज़ालिम हर दर्द सहना सीखा देता है!😢 😭

ज़रा देखो ये दरवाज़े पर दस्तक किसनेदी है;
अगर इश्क़ हो तो कहना यहाँ दिल नही रहता

इतनी सी बात थी
जो समन्दर को खल गई…
.
.
का़ग़ज़ की नाव कैसे भँवर से निकल गई……😢 💔 😒

तमाम नींदे गिरवी है उसके पास
ज़रा सी मोहोब्बत ली थी जिससे।।

प्यार करना हर किसी के बस की बात नहीं ….
जिगर चाहिए अपनी ही खुशियां बर्बाद करने के लिए।😢 💔 😒

किस किस से वफ़ा के वादे कर रखे हैं तूने ???
हर रोज़ एक नया शख्स मुझसे तेरा नाम पूछता है😢 💔 😒

हजारो गम है सीने मे मगर शिकवा करें किससे…
इधर दिल है तो अपना है…
उधर तुम हो तो अपने हो…

ख्वाहिश तो ना थी किसी से दिल लगाने की,
मगर जब किस्मत में ही दर्द 💔लिखा था
तो मोहब्बत कैसे ना होती।😢 💔 😒

जिन्दगी की राहों में मुस्कराते रहो हमेशा,
उदास दिलों को हमदर्द 💔 तो मिलते हैं, हमसफ़र नहीं !!😢 😭

ख्वाब हमारे टूटे तो हालात कुछ ऐसी थी,
आँखे पल पल रोती 😭 थीं ,किस्मत हँसती रहती थी💔

वो खुद पर गरूर करते है, तो इसमें हैरत की कोई बात नहीं,
जिन्हें हम चाहते है, वो आम हो ही नहीं सकते !!😢 💔 😒

तेरे‬ सिवा कौन ‎समा‬ सकता है ‎मेरे‬ दिल में……
‪रूह‬ भी गिरवी रख दी है मैंने तेरी‬ चाहत में !!

हुस्न वाले जब तोड़ते हैं दिल किसी का,
बड़ी सादगी से कहते है मजबूर थे हम….😢 💔 😒

तुम जिन्दगी में आ तो गये हो मगर ख्याल रखना,
हम जान तो दे देते हैं… मगर जाने नहीं देते…😢 💔 😒

भींग गई पलके फ़िर ये सोचकर…
तु मिलने आ तो रहा हैं,,,,
मगर फ़िर से बिछडने के लिये!!😢 😭

हमें तो प्यार के दो लफ़्हज़ भी ना नसीब हुए..
और बदनाम ऐसे हुए जैसे इश्क़ के बादशाह थे हम😢 😭

दरिया ए अश्क अब मुनासिब नहीं आने को,
जो मिल ना पाये बाकी रहेगा वहीं बहाने को।😢 😭

मैखाने मैं आऊंगा मगर पिऊंगा नहीं साकी,
ये शराब मेरा गम मिटाने की औकात नही रखती…😢 😭

जरा खुद ही सोचना क्या गुज़रेगी उस दिन तुम पर……
जब तू चाहेगी मुझे मेरी तरह और मैं छोड दूँगा तुझे तेरी तरह..😢 😭

अब की बार मिलोगे तो खूब रुलायेंगे तुम्हे.
सुना है तुम्हे रोने के बाद सीने से लिपट जाने की आदत है…!!

घुटन सी होने लगी है,
इश्क़ जताते हुए,
मैं खुद से रूठ गया हूँ,
तुम्हे मनाते हुए…😢 😭

क़ानून तो सिर्फ बुरे लोगों के लिए होता है….
अच्छे लोग तो शर्म से ही मर जाते हैं…!!

मोहब्बत रोग है दिल का इसे दिल पे ही छोड़ दो,
दिमाग को अगर बचा लो तो भी गनीमत हो..!!😢 💔 😒

ताला लगा दिया दिल को…..
अब तेरे बिन किसी का अरमान नहीं …..
बंद होकर फिर खुल जाए…..
ये कोई दुकान नही

जोश-ए-जुनूँ में लुत्फ़-ए-तसव्वुर न पूछिए,
फिरते हैं साथ साथ उन्हें हम लिए हुए।

मेरी हर आह को वाह मिली है यहाँ….. कौन कहता है दर्द बिकता नहीं है !!

ये दुःख ,
उदासी ,
आँसुओं को मौत क्यों नहीं आती😢 😭

दबे होंठों को बनाया है सहारा अपना,
सुना है कम बोलने से बहुत कुछ सुलझ जाता है.!!

हर रात गुजर रही है रूठने और मनाने में
कहीं साँसें थम ना जाए मेरी… हमारे प्यार को बचाने में……..

लिखना तो था के हम खुश है उसके बिना
मगर आसू निकल पड़े कलम उठाने से पहले😢 💔 😒

कुछ लोग आए थे मेरा दुख बाँटने, मैं जब खुश हुआ तो खफा होकर चल दिये…!!!

जिस जिस ने मुहब्बत में, अपने महबूब को खुदा कर दिया, खुदा ने अपने वजूद को बचाने के लिए, उनको जुदा कर दिया.

याददाश्त की दवा बताने में सारी दुनिया लगी है,
तुमसे बन सके तो तुम हमें भूलने की दवा बता दो..

ऐ खुदा मुसीबत मैं डाल दे मुझे…. किसी ने बुरे वक़्त मैं आने का वादा किया है.

हमने गुज़रे हुए लम्हों का हवाला जो दिया हँस के वो कहने लगे रात गई बात गई …!!!

हर बार सम्हाल लूँगा गिरो तुम चाहो जितनी बार,
बस इल्तजा एक ही है कि मेरी नज़रों से ना गिरना…!!😢 💔 😒

छुपे हैं लाख हक़ के मरहले गुम-नाम होंटों पर;
उसी की बात चल जाती है जिस का नाम चलता है।

कहा था सबने, डूबेगी यह कश्ती
मगर हम जानकर बैठे उसी मेंll😢 😭

मुझ को अब तुझ से भी मोहब्बत नहीं रही,
ऐ ज़िंदगी तेरी भी मुझे ज़रूरत नहीं रही,
बुझ गये अब उस के इंतेज़ार के वो जलते दिए,
कहीं भी आस-पास उस की आहट नहीं रही|😢 😭

मुहब्बत न सही मुकद्दमा ही कर दो मुझ पर……
तारीख़ दर तारीख़ तेरा दीदार तो होगा….😢 😭

बिजलियाँ टूट पड़ी… जब वो मुकाबिल से उठा,
मिल के पलटी थीं निगाहें कि धुआँ दिल से उठा।

टूटे हुवे सपनो और रूठे हुवे अपनों ने आज उदास कर दिया | वरना लोग हमसे मुस्कराने का राज पुछा करते थे ||

आप तब तक ख़ुशी नहीं रह पाएंगे जब तक आप ये
खोजते रहेंगे की ख़ुशी कहा मिलेगी।
और आप तक ख़ुशी से जी नहीं पाएगे जब तक लेफे का
मीनिंग खोजते रहेंगे।

तू तब तक रूला सकती है हमें,
जब तक हम दिल मे बसाये हैं तुझे.

हर बार सम्हाल लूँगा गिरो तुम चाहो जितनी बार,
बस इल्तजा एक ही है कि मेरी नज़रों से ना गिरना…!!😢 💔 😒

तुम्हारा साथ तसल्ली से चाहिए मुझे..
जन्मों की थकान लम्हों में कहाँ उतरती है !!

अभी ज़रा वक़्त है,
उसको मुझे आज़माने दो.
वो रो रोकर 😭 पुकारेगी मुझे,
बस मेरा वक़्त तो आने दो।।।

आँखें थक गई है आसमान को देखते देखते
पर वो तारा नहीं टूटता ,
जिसे देखकर तुम्हें मांग लूँ….

बहुत आसान है पहचान इसकी . . . अगर दुखता नहीं तो दिल नहीं है!!

जलने वाले की दूआ से ही सारी बरकत है, वरना अपना कहने वाले तो याद भी नही करते….!!

याद है मुझे मेरी हर एक गलती,
एक तो मोहब्बत कर ली,
दुसरी तुमसे कर ली,
तिसरी बेपनाह कर ली😢 😭

चाहत देस से आनेवाले ये तो बता के सनम कैसे हैं ..?
दिलवालों की क्या हालत हैं, यार के मौसम कैसे हैं …

महसुस हो रही है सरगोशियां धडकनों की. ..
लगता है एक पगला मेरे शहर आ रहा है!!

मुझे भी शामिल करो गुनहगारों की महफ़िल में ,
मैं भी क़ातिल हूँ अपनी हसरतों का ,
मैंने भी अपनी ख्वाहिशों को मारा है।😢 😭

बरबाद कर देती है मोहब्बत,
हर मोहब्बत करने वाले को,
क्योंकि इश्क़ हार नही मानता,
और दिल बात नही मानता।😢 😭