खुल जाता है तेरी यादों का बाजार सुबह सुबह
और हम उसी रौनक में पूरा दिन गुजार देते है..😢 😭

तुझसे अच्छे तो जख्म हैं मेरे । उतनी ही तकलीफ देते हैं जितनी बर्दास्त कर सकूँ ।।

हम ने ही सिखाया था उने बाते करना !
आज हमारे लिए ही वक्त नही है !!😢 💔 😒

🔥🔥आज अचानक कोई मुझसे लिपट कर बहुत रोया😓.. कुछ देर बाद एहसास हुआ ये तो मेरा ही साया है..🔥🔥

टूटता हुआ तारा सबकी दुआ पूरी करता है..क्यों के उसे टूटने का दर्द मालूम होता है!!!

लोग शोर से जाग जाते हैं और मुझे एक शख़्स की खामोशी सोने नहीं देती 😢 💔 😒

वो दर्द💔 ही क्या जो आँखों से बह जाए!
वो खुशी ही क्या जो होठों पर रह जाए!
कभी तो समझो मेरी खामोशी को!
वो बात ही क्या जो लफ्ज़ आसानी से कह जायें!😢 😭

तेरे शहर के कारीगर बङे अजीब हैं ए दिल,, काँच की मरम्मत करते हैं पत्थर के औजारों से …!!

ख़त जो लिखा मैनें वफादारी के पते पर,
डाकिया ही चल बसा शहर ढूंढ़ते ढूंढ़ते😢 😭

सीख रहा हूँ मै भी अब मीठा झूठ बोलने का हुनर,
कड़वे सच ने हमसे, ना जाने, कितने अज़ीज़ छीन लिए।😢 💔 😒

खूब करता है, वो मेरे ज़ख्म का इलाज
कुरेद कर देख लेता है, और कहता है वक्त लगेगा..

आज़ाद कर दिया हे हमने भी उस पंछी को …,
जो हमारी दिल की कैद में रहने को तोहीन समजता था .😢 😭

बारिश‬ के ‪बाद‬ तार पर ‪टंगी‬ ‪आख़री‬ ‪‎बूंद‬ से पूछना,
क्या‬ होता है ‪‎अकेलापन‬

न जख्म भरे,
न शराब सहारा हुई…
न वो वापस लौट न मोहब्बत दोबारा हुई ……

मंजिल भी तुम हो, तलाश भी तुम हो,
उम्मीद भी तुम हो, आस भी तुम हो,
इश्क भी तुम हो और जूनूँ भी तुम ही हो,
अहसास तुम हो जिंदगी भी तुम ही हो।😢 😭

अक्सर ठहर कर देखता हूँ
अपने पैरों के निशान को,
वो भी अधूरे लगते हैं…
तेरे साथ के बिना।

खुदगर्ज ही सही,कुछ भी कहो
पर सुनो,तेरी जरूरत है मुझे….!!😢 💔 😒

इतनी ठोकरे देने के लिए शुक्रिया ए-ज़िन्दगी
चलने का न सही, सम्भलने का हुनर तो आ गया😢 💔 😒

तुझे क्या देखा, खुद को ही भूल गए हम इस क़दर
कि अपने ही घर जो आये तो औरों से पता पूछ पूछकर😢 💔 😒

खूब करता है, वो मेरे ज़ख्म का इलाज
कुरेद कर देख लेता है, और कहता है वक्त लगेगा..

चाहत वो नहीं जो जान देती है,
चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है,
ऐ दोस्त चाहत तो वो है,
जो पानी में गिरा आंसू पहचान लेती हैं.😢 😭

मोहब्बत भी हाथों में लगी मेहँदी की तरह होती है
कितनी भी गहरी क्यों ना हो फीकी पड़ ही जाती है।😢 😭

दर्द 💔से दोस्ती हो गई यारों,
जिंदगी बे दर्द 💔हो गई यारों,
क्या हुआ जो जल गया आशियाना हमारा,
दूर तक रोशनी तो हो गई यारो।

बिखरे अरमान, भीगी पलकें और ये तन्हाई,
कहूँ कैसे कि मिला मोहब्बत में कुछ भी नहीं।😢 😭

कैसे करूँ मैं साबित…
कि तुम याद बहुत आते हो…
एहसास तुम समझते नही…
और अदाएं हमे आती नहीं…😢 💔 😒

तेरे करीब आकर बडी उलझन में हूँ,
मैं गैरों में हूँ या तेरे अपनो में हूँ !!

इरादा कत्ल का था तो ~मेरा सर कलम कर देते क्यू इश्क मे डाल कर तुने ~हर साँस पर मौत लिख दी..!!

जरा खुद ही सोचना क्या गुज़रेगी उस दिन तुम पर……
जब तू चाहेगी मुझे मेरी तरह और मैं छोड दूँगा तुझे तेरी तरह..😢 😭

एक सुकून की तलाश मे जाने कितनी बेचैनियां पाल ली,
और लोग कहते है हम बडे हो गए हमने जिंदगी संभाल ली.😢 💔 😒

जाऊँ तो कहा जाऊँ इस तंग दिल दुनिया में,
हर शख्स मजहब पूछ के आस्तीन चढ़ा लेता है…!😢 😭

तेरे‬ सिवा कौन ‎समा‬ सकता है ‎मेरे‬ दिल में……
‪रूह‬ भी गिरवी रख दी है मैंने तेरी‬ चाहत में !!

न समझ मैं भूल गया हूँ तुझे,
तेरी खुशबू मेरे सांसो में आज भी हैं ।
मजबूरियों ने निभाने न दी मोहब्बत,
सच्चाई मेरी वफाओ में आज भी हैं ।

आज भी उसी मोड़ पर इंतजार क्र रहा हु उनका जहाँ न लोट कर आने की वो कसम खाए बेठे है !!

दिखावे की मोहब्बत तो जमाने को हैं हमसे पर…,, ये दिल तो वहाँ बिकेगा जहाँ ज़ज्बातो की कदर होगी !!

मुझे किसी के बदल जाने का गम नही ,
बस कोई था,
जिस पर खुद से ज्यादा भरोसा था…😢 💔 😒

हुस्न वाले जब तोड़ते हैं दिल किसी का, बड़ी सादगी से कहते है मजबूर थे हम..!

चाहत के चिराग़ों में,ये ही अजीब बात है…..
मद्धम तो हो जाते हैं,मग़र बुझते नहीं…!😢 💔 😒

तुमको मिल जायेगा बेहतर मुझसे ! मुझको मिल जायेगा बेहतर तुमसे !
पर कभी कभी लगता है ऐसे…हम एक दूसरे को मिल जाते तो होता बेहतर सबसे !😢 😭

तुम खुश-किश्मत हो जो हम तुमको चाहते है वरना,
हम तो वो है जिनके ख्वाबों मे भी लोग इजाजत लेकर आते है..!!

तेरा नाम ही ये दिल रटता है,
ना जाने तुम पे ये दिल क्यू मरता है
नशा है तेरे प्यार का इतना,
कि तेरी ही याद में ये दिन कटता है।

जो जले थे हमारे लिऐ,
बुझ रहे है वो सारे दिये,
कुछ अंधेरों की थी साजिशें,
कुछ उजालों ने धोखे दिये..😢 😭

कोई छुपाता है, कोई बताता है,
कोई रुलाता है, तो कोई हंसाता है,
प्यार तो हर किसी को ही किसी न किसी से हो जाता है,
फर्क तो इतना है कि कोई अजमाता है और कोई निभाता है!😢 😭

दिल चाहता है आज 😢 रो लूँ मैं जी भर के, ना जाने किस-किस बात पर 😏 उदास हूँ…..😭 😭

मुझे भी शामिल करो गुनहगारों की महफ़िल में ,
मैं भी क़ातिल हूँ अपनी हसरतों का ,
मैंने भी अपनी ख्वाहिशों को मारा है।😢 😭

मुझे उससे कोई शिकायत ही नहीं,
शायद हमारी किसमत में चाहत ही नहीं,
मेरी तकदीर को लिखकर खुदा भी मुकर गया,
पूछा तो बोला ये मेरी लिखावट ही नही..😢 💔 😒

बेवफाई तो सब करते है पगली….
.
.
तु तो समजदार थी,कुछ नया कर लेती..!

खबर क्या थी होठों को सीना पड़ेगा
मोहब्बत छुपाकर भी जीना पड़ेगा
जिये तो मगर जिंदगानी पे रोये😭

उसकी ये मासूम अदा मुझको बेहद भाती है…
वो मुझसे नाराज़ हो तो गुस्सा सबको दिखाती है…!!😢 💔 😒

कोशिश के बाद भी जो पूरी ना हो सकी..
तेरा नाम भी उन ख्वाइशों मैं हैं..😢 😭

चलती हुई कहानियों के जवाब तो बहुत है मेरे पास………..
लेकिन खत्म हुए किस्सों की खामोशी ही बेहतर है….😢 💔 😒

कहते है,
प्यार की शुरुआत आँखो से होती है,
यकीन मानो दोस्तो ,
प्यार की कीमत भी आँखो से ही चुकानी पड़ती है 😢 😭

कोशिश तो होती है कि तेरी हर ख़्वाइश पूरी करूँ
पर डर लगता है कि तू ख़्वाइश में कहीं मुझसे जुदाई ना माँग ले।😢 💔 😒

एक कब्र पर लिखा था…किस को क्या इलज़ाम दूं दोस्तो…,
जिन्दगी में सताने वाले भी अपने थे,और दफनाने वाले भी अपने थे..😢 💔 😒

राज़ ज़ाहिर ना होने दो तो एक बात कहूँ ,
मैं धीरे- धीरे तेरे बिन मर जाऊँगी !!😢 😭

वो बड़े ताज्जुब से पूछ बैठा मेरे गम की वजह..
फिर हल्का सा मुस्कराया, और कहा, मोहब्बत की थी ना… ??😢 💔 😒

तुम बिन ज़िंदगी सूनी सी लगती है,
हर पल अधूरी सी लगती है,
अब तो इन साँसों को अपनी साँसों से जोड़ दे,
क्योंकि अब यह ज़िंदगी कुछ पल की मेहमान सी लगती है।😢 💔 😒

बात तो सिर्फ जज़्बातों की है
वरना
मोहब्बत तो सात फेरों के बाद भी नहीं होती..!!😢 😭

दुरिया खलती है मुझे….
इतने करीब रिश्तों में…!!
कि आ भी जाओ मेरे पास. ..
यु ना मोहब्बत दो मुझे किश्तो मे..!!😢 💔 😒

कुछ खास नही बस इतनी सी है मोहब्बत मेरी .. .!!
हर रात का आखरी खयाल और हर सुबह की पहली सोच हो तुम.

दोस्तों जानता हूँ मशहूर बहुत हे मेरे अल्फाज और स्टेट्स …
मगर एक पगली ऐसी भी हे जो मुझसे मनाई नही जाती…..😢 💔 😒