ये खूबसूरत फ़िज़ाओं में फूलों की खुशबू हो; सुबह की किरण में पंछियों की आवाज़ हो; जब भी खोलो अपनी ये निगाहें; उन निगाहों में सिर्फ खुशियों की झलक हो। सुप्रभात!

तमन्ना करते हो जिन खुशियों की, दुआ है वह खुशिया आपके कदमो मे हो, खुदा आपको वह सब हक़ीक़त मे दे, जो कुछ आपके सपनो में हो. Good Morning।।

गुलशन में भँवरों का फेरा हो गया, पूरव में सूरज का डेरा हो गया, मुश्कान के साथ आँखे खोलो, एकबार फिर से सँवेरा हो गया.. शुप्रभात दोस्त…

सुबह आँख खुलते ही आ गई याद तुम्हारी दिमाग में घूम गया तुम्हारा मुस्कुराता चेहरा और…….हो गई मुस्कुरा कर दिन की शुरुआत हमारी!